कैसे पहुंचे

देवघर एक प्रमुख तीर्थ स्थान है, यह झारखण्ड राज्य के संथाल परगना के अंतर्गत है। इस शहर में बैधनाथ  मंदिर स्थित है जो की बारह  शिव ज्योतिर्लिंग में से  एक है इस ज्योतिर्लिंग को मनोकामना  लिंग भी कहा जाता है। देवघर में प्रयटको  के   लिए बहुत से आकर्षण केंद्र है : नौलखा मंदिर , बासुकीनाथ , बैजू  मंदिर और माँ शीतला मंदिर है। देवघर हवाई, सड़क और रेल द्वारा देश के अन्य प्रमुख शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है।

एयर द्वारा देवघर तक कैसे पहुंचे

निकटतम घरेलू हवाई अड्डा लोक नायक जयप्रकाश हवाई अड्डे, पटना, देवघर से 274 किलोमीटर दूर स्थित है। पटना में बैंगलोर, चेन्नई, दिल्ली, कोलकाता, लखनऊ, हैदराबाद, मुंबई, रांची, भोपाल, अहमदाबाद, गोवा और विशाखापत्तनम जैसे कई शहरों की दैनिक उड़ानें हैं।

रेल द्वारा देवघर तक कैसे पहुंचे

रेलवे स्टेशन देवघर से 7 कि.मी. की दूरी पर बैद्यनाथ धाम में स्थित है और यह नई दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, वाराणसी और भुवनेश्वर जैसे कई बड़े शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। यहाँ का मुख्य स्टेशन जसीडीह है जो की देवघर से  7 किलोमीटर की दूरी पर है।

रोड से देवघर तक कैसे पहुंचे

देवघर सारवा से 16 किलोमीटर, सारठ से 36 किलोमीटर, जरमुंडी से 41 किलोमीटर, चंदमारी से 52 किलोमीटर,  132 किलोमीटर से धनबाद, 148 किलोमीटर से कोडरमा, 278 किलोमीटर दूर है।  झारखंड राज्य सड़क परिवहन निगम लिमिटेड, पश्चिम बंगाल राज्य सड़क परिवहन निगम लिमिटेड और कुछ निजी यात्रा सेवाओं के माध्यम से जुड़ा हुआ है।